समय से पहले अडाणी ने चुकाया कर्ज, शेयरों में 30.77 फीसदी की तेजी 

नई दिल्ली: एक तरफ अडाणी ग्रुप (Adani Group) ने 2.15 अरब अमेरिकी डॉलर का मार्जिन लिंक्ड शेयर बैक्ड फाइनेंसिंग (Margin Linked Share Backed Financing) का समय से पहले ही पूरा भुगतान कर दिया है। अडाणी ग्रुप के पास इस कर्ज को चुकाने के लिए 31 मार्च तक की समयसीमा थी, लेकिन काफी पहले ही इस कर्ज को चुका दिया है।

वहीं, अडानी इंटरप्राइजेज, अदानी ग्रीन एनर्जी, अदानी पावर, अदानी ट्रांसमिशन और अडानी टोटल गैस जैसे अदानी समूह के शेयरों में तेज रिकवरी के चलते 27 फरवरी को अडानी की कुल संपत्ति 37.7 अरब डॉलर के निचले स्तर से तेज वापसी की है। अदानी एंटरप्राइजेज के शेयरों में पिछले पांच सत्रों में 30.77 फीसदी की तेजी आई है।

अदाणी टोटल गैस पिछले पांच कारोबारी सत्र में 28.36 फीसदी चढ़ा है। अडानी ग्रीन एनर्जी 21.54 फीसदी ऊपर है जबकि अदानी पावर इसी अवधि के दौरान 19.32 फीसदी ऊपर है। पिछले पांच सत्रों में अडाणी ट्रांसमिशन ने 21.84 फीसदी की तेजी दर्ज की है. अडानी विल्मर 21 प्रतिशत ऊपर है जबकि इसी अवधि के दौरान अडानी पोर्ट्स एंड एसईजेड 17 प्रतिशत ऊपर है। एनडीटीवी, एसीसी और अंबुजा सीमेंट्स भी पिछले पांच सत्रों में 22 फीसदी तक चढ़े हैं।

तो दूसरी तरफ, नागपुर में सुदर्शन केशव बागडे की ओर से एड. संतोष चव्हाण, प्रतिक लोहबरे ने नागपुर खंडपीठ में याचिका दाखिल कर कहा है कि उद्योगपति गौतम अदाणी भारत से बाहर भाग सकता है, इसके लिए उसका पासपोर्ट जब्त किया जाए।

हिंडनबर्ग रिपोर्ट अनुसार, भारत में गौतम अदाणी ने ढाई लाख करोड़ रुपए का कर्ज अलग-अलग पब्लिक सेक्टर बैंक से लिया है। यह हजारों करोड़ रुपए जनता के हैं और गौतम अदाणी ने यह कर्ज लिया है। विजय माल्या, नीरव मोदी, मेहुल चोकसी, नितीन संदेशराव जैसे व्यक्ति कर्ज लेकर देश छोड़कर भागे हैं।

गौतम अदाणी भारत छोड़कर भाग न जाए, इसके लिए उसका पासपोर्ट जब्त किया जाए। यह मांग सुदर्शन बागडे ने याचिका में की थी, किन्तु न्यायालय ने संबंधित केंद्र सरकार के विभाग को निवेदन देने का सुझाव देकर याचिका का निपटारा कर दिया। इस प्रकरण में सोमवार को सुनवाई के दरम्यान उच्च न्यायालय ने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय में इन्वेंस्टिगेशन के लिए सीबीआई और सेवानिवृत्त न्यायमूर्ति की टीम बनाई है। इस कारण यह केस उच्च न्यायालय में चल नहीं सकता। इसलिए इस प्रकरण का निपटारा किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *