Aisa Cup 2023 Final: भारत और श्रीलंका के मैच में लगी रिकार्डों की झड़ी

कोलंबो: भारत और श्रीलंका के बीच रविवार को यहां खेले गए एशिया कप फाइनल (Aisa Cup 2023 Final) में कई नए रिकॉर्ड बने। भारत ने यह मैच 10 विकेट से जीतकर एशिया कप ((Aisa Cup 2023 Final)) में आठवां खिताब जीता। मोहम्मद सिराज के छह विकेट के दम पर श्रीलंका की टीम केवल 50 रन पर सिमट गई। भारतीय टीम ने केवल 6.1 ओवर में लक्ष्य हासिल कर दिया।
इस मैच में बने रिकॉर्ड इस तरह से हैं:
  1. श्रीलंका का स्कोर पांचवा विकेट गिरने पर 12 रन था जो इस मुकाम पर उसका भारत के खिलाफ न्यूनतम स्कोर था। इसी स्कोर पर उसने अपना छठा विकेट गंवाया जो आईसीसी के पूर्णकालिक सदस्य देश का वनडे में इस मुकाम पर न्यूनतम स्कोर है।
  2. सिराज ने इस मैच में वनडे में 50 विकेट पूरे किए। उन्होंने इस मुकाम पर पहुंचने के लिए 1002 गेंदे की। इस प्रारूप में वह सबसे कम गेंदों में 50 विकेट लेने वाले दूसरे गेंदबाज बन गए हैं। रिकॉर्ड श्रीलंका के अजंता मेंडिस (847 गेंद) के नाम पर है।
  3. श्रीलंका ने 50 रन बनाए जो उसका वनडे में भारत के खिलाफ न्यूनतम स्कोर है। किसी वनडे फाइनल में भी यह सबसे कम स्कोर है। – सिराज ने 21 रन देकर छह विकेट लिए जो श्रीलंका के खिलाफ वनडे में किसी गेंदबाज का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।
  4. यह एशिया कप वनडे के इतिहास में केवल दूसरा मौका है जबकि सभी 10 विकेट तेज गेंदबाजों ने लिए। वर्तमान एशिया कप में पाकिस्तान के तेज गेंदबाजों ने भारत के खिलाफ यह कारनामा किया था। यह मैच बारिश के कारण पूरा नहीं हो पाया था।
  5. सिराज का प्रदर्शन किसी वनडे फाइनल में भारत की तरफ से तेज गेंदबाज का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। यह वनडे फाइनल में भारतीय गेंदबाज का दूसरा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। अनिल कुंबले ने 1993 में हीरो का फाइनल में 12 रन देकर छह विकेट लिए थे।
  6. सिराज वनडे क्रिकेट में एक ओवर में चार विकेट लेने वाले भारत के पहले गेंदबाज बन गए हैं। वह आशीष नेहरा के बाद दूसरे ऐसे गेंदबाज हैं जिन्होंने श्रीलंका के खिलाफ 6 विकेट लिए।
  7. भारत पहली ऐसी टीम बन गई है जिसने वनडे फाइनल में दो अवसरों पर 10 विकेट से जीत दर्ज की। उसने 1998 में शारजाह में जिंबाब्वे को 10 विकेट से हराया था।
  8. भारत ने 263 गेंद शेष रहते हुए जीत दर्ज की जो इस मामले में उसकी सबसे बड़ी जीत है। वनडे फाइनल में यह गेंद शेष रहने के मामले में सबसे बड़ी जीत भी है।

यह भी पढ़ें: 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *