जिस Kapil Sibal को केजरीवाल ने कहा था भ्रष्टाचारी, उसी के साथ बैठकर आज PM मोदी और केंद्र सरकार पर बोला हमला

नई दिल्ली: राजनीति में न कोई दुश्मन होता है और न ही कोई दोस्त। आज जिसे गाली दे रहे हैं कल उसके साथ बैठकर खान खाते और हाथ में हाथ डाले दिखाई देंगे। ऐसा ही कुछ आज राजधानी दिल्ली के रामलीला मैदान में दिखाई दिया। जहां जिस कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) को आम आदमी पार्टी सुप्रीमो और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) 2013 से लेकर 2022 तक भ्रष्टाचार का आरोप लगाते थे और उन्हें गिरफ्तार करने की मांग करते थे आज वह उसी सिब्बल के साथ मंच साझा करते हुए दिखाई दिए। यही नहीं बाकायदा गुलदस्ता देकर उनका स्वागत भी किया।

दरअसल, अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार के अध्यादेश के खिलाफ रामलीला मैदान में महारैली बुलाई थी। इस बैठक में आम आदमी पार्टी के तमाम नेता सहित पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान भी शामिल रहे। इस रैली में मुख्य अतिथि के तौर पर पूर्व केंद्रीय मंत्री और मौजूदा राज्यसभा सांसद कपिल सिब्बल को बुलाया गया। इस महारैली में सिब्बल ने भाषण भी दिया। जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी और केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला।

केजरीवाल ने Kapil Sibal को बताया था भ्रष्टाचारी

2013 में जब आम आदमी पार्टी की स्थापना हुई थी। उस समय अरविन्द केजरीवाल ने देश के 100 सबसे बड़े भ्रस्टाचारियों की सूची जारी किया था। जिसमें सोनिया गांधी, शरद पवार से लेकर कपिल सिब्बल  (Kapil Sibal) का नाम भी शामिल था। यही नहीं जब मनमोहन सरकार में सिब्बल को कानून मंत्री बनाया गया था। उसके बाद केजरीवाल पहले आदमी थी जिसने सिब्बल को भ्रष्टाचारी बताया था। यही नहीं सिब्बल की गिरफ़्तारी सहित इन नेताओं की जांच को लेकर केजरीवाल एंड कंपनी ने प्रेस वार्ता की सीरीज शुरू कार दी थी।

जो पहले था भ्रष्टाचारी वह है सबसे ज्यादा ईमानदार

2013 के पहले केजरीवाल और उनकी कंपनी जिन नेताओं को सबसे बड़ा भ्रष्टाचारी और अपराधी बताते थे। वहीं नेता आज सबसे ज्यादा ईंमानदार हो चुके हैं। सत्ता में आने के बाद से केजरीवाल सहित उनके नेता लगातार इन नेताओं से मुलाकात  कर रहे हैं। वहीं इसके साथ बैठकर केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ एक साथ मिलकर चुनाव लड़ने की तैयारी में लगे हुए हैं। वहीं अब यह देखना होगा कि, केजरीवाल के ये पल्टीमार नीति आगामी चुनाव में कितना फायदा दिलाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *