चीन ने ताइवान में राष्ट्रपति पद के अग्रणी उम्मीदवार को ‘शांति का नाश’ करने वाला व्यक्ति करार दिया

ताइपे: चीन ने ताइवान में राष्ट्रपति पद के अग्रणी उम्मीदवार विलियम लाई की आलोचना करते हुए उनहें ‘शांति का नाश’ करने वाला व्यक्ति करार दिया है। टेलीविजन के एक कार्यक्रम में बहस के दौरान शनिवार को लाई ने ताइवान के एक लोकतंत्रिक राष्ट्र के रूप में शासन करने के अधिकार का बचाव किया था जिसके बाद चीन ने यह प्रतिक्रिया व्यक्त की।

चीन के ताइवान मामलों के कार्यालय के प्रवक्ता चेन बिनहुआ ने कहा कि बहस के दौरान लाई का भाषण ‘टकराव की सोच से भरा’ हुआ था। उन्होंने कहा कि वर्तमान में डेमोक्रेटिक पीपुल्स पार्टी द्वारा शासित ताइवान के उपाध्यक्ष के रूप में कार्यरत लाई ताइवान जलडमरूमध्य में संभावित खतरनाक युद्ध को भड़काने वाले व्यक्ति हैं।

वर्ष 1949 के गृह युद्ध के दौरान चीन से ताइवान अलग हो गया था, लेकिन उच्च तकनीक अर्थव्यवस्था वाले 2.3 करोड़ लोगों के इस द्वीपीय देश को बीजिंग लगातार चीनी क्षेत्र के रूप में मानता रहा है और जरूरत पड़ने पर सैन्य बल द्वारा इसे हासिल करने की धमकी भी देता रहा है।

लाई ने कहा कि ताइवान पड़ोसी देश चीन के अधीन नहीं है। लाई 13 जनवरी के राष्ट्रपति पद के चुनाव में चीन के प्रति अधिक दोस्ताना रुख वाली कुओमितांग पार्टी के उम्मीदवार होउ यू-इह और ताइवान पीपुल्स पार्टी के ‘को वेन-जे’ के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *